चमकी बुखार से बच्चों की मौत को लेकर डॉ हर्षवर्धन और मंगल पांडेय के खिलाफ मुकदमा

  • Jun 17, 2019
Khabar East:Suhrawardy-case-against-Dr-Harshvardhan-and-Mangal-Pandey-over-death-of-children-from-spinning-fever
मुजफ्फरपुर,17 जूनः

बिहार में चमकी बुखार (एक्यूट एन्सेफलाइटिस सिंड्रोम-एईएस) का कहर जारी है। चमकी के कारण मरने वाले बच्चों की संख्या में हर रोज इजाफा हो रहा है। मुजफ्फरपुर में सोमवार तक इस बीमारी के कारण 100 से अधिक बच्चों की मौत हो गई है। मुजफ्फरपुर के श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज व अस्पताल (एसकेएमसीएच) और केजरीवाल अस्पताल में 375 बच्चे एडमिट हैं। बीमारी के कारण मुजफ्फरपुर की स्थिति बेहद खराब हो गई लेकिन राज्य में अभी तक इस बीमारी पर अभी तक काबू नहीं पाया गया है। जिसके बाद सामाजिक कार्यकर्ता तमन्ना हाशमी ने मुजफ्फरपुर सीजेएम कोर्ट में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन और बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। शिकायतकर्ता ने दोनों पर आरोप लगाया है कि उन्‍होंने जनता के बीच अक्यूट इंसेफलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) यानी चमकी बुखार को लेकर जागरूकता नहीं फैलाई। तमन्ना हाशमी की ओर से दायर की गई याचिका पर अदालत 24 जून को सुनवाई करेगी।गौर हो कि केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने रविवार को मुजफ्फरपुर का दौरा किया। इस दौरान केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे भी मौजूद थे। जिला स्वास्थ्य अधिकारी ने मंत्रियों को बताया कि हालात का जायजा लेने के लिए डॉक्टरों और स्वास्थ्य अधिकारियों ने एक समीक्षा बैठक की। डॉ हर्षवर्धन ने श्री कृष्‍णा मेडिकल कॉलेज और हॉस्पिटल का दौरा किया और डॉक्‍टरों से बात की। इससे पहले स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री के काफिले को काले झंडे भी दिखाए गए।

Author Image

Khabar East

  • Tags: