महिला तय करेगी ओडिशा में किसकी बनेगी सरकार, सियासी दलों ने खोला खजाना

  • Mar 14, 2019
Khabar East:Womens-hold-key-to-from-new-government-in-Odisha-Parties-open-their-box-for-women
भुवनेश्वर, 14 मार्च :

ओडिशा में लोकसभा एवं विधानसभा का चुनाव एक समय पर निर्धारित किया गया है। निर्वाचन आयोग द्वारा चुनाव के तारीखों की घोषणा के बाद राज्य में सत्तारुढ़ पार्टी बीजद, विपक्ष कांग्रेस एवं भाजपा सभी सियासी दल महिलाओं को योजानाएं का लाभ देकर अपने खेमे में करने की कोशिश में जुटे हैं।

चुनाव आयोगा ने पिछले महीने मतदाताओं की सूची जारी किया। राज्य में मतदाताओं की संख्या 3.17 करोड़ है, जिसमें पुरुष मतदाताओं की संख्या 1.63 करोड़ है वहीं महिलाओं की संख्या 1.54 करोड़ हैं। लोकसभा व विधानसभा चुनाव में 50 फीसद महिला मतदाता राज्य में अगली सरकार निर्धारित करने की क्षमता रखती हैं।

राजनीतिक पार्टियां भाजपा, बीजद व कांग्रेस महिलाओं को आकर्षित करने के लिए तरह-तरह कि विशेष योजनाएं की घोषाणा कर रही है।

सत्तारुढ़ बीजद की सरकार ने चुनावी सभा में महिलाओं को लुभाने के लिए आगामी लोकसभा चुनाव में 33 फीसद देने की बात कही। साथ ही साथ स्वयं सहायता समूह के महिलाओं को सामाजिक आर्थिक सशक्तिकरण के तहत व्यापार करने के लिए जीरो फीसद ब्याज पर राशि देने का आवाहन किया। बीजद सरकार ने बीजू स्वास्थ्य कल्याण योजना के तहत महिलाओं को प्रतिवर्ष 7 लाख रुपये स्वास्थ्य बीमा पर खर्च करती है।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पिछले बार अतंरारष्ट्रीय महिला दिवास पर सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि राज्य में गरीब घरे के बच्चियों को मुफ्त में शिक्षा एवं शादी के लिए आर्थिक मदद का प्रावधान किया जाएगा। यहीं नहीं बल्कि प्रदेश भर में विधवा महिलाओं को दो हजार भत्ता के रुप में दिया जाएगा।

वहीं भाजपा ने प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत महिलाओं के दिलों को छूने की कोशिश कर रही है। राज्य में उज्जवला योजना के अंतर्गत 40 लाख महिलाओं को एलपीजी कनेक्शन दिया गया है। साथ ही साथ भाजपा मुद्रा योजना, घर-घर में शौचालय, सुकन्या समृद्धि योजना के तहत महिलाओं को लाभ पहुंचा रही है।

भाजपा और कांग्रेस योजनाओं से हट कर महिलाओं को लोकसभा व विधानसभा में बीजद से अधिक संख्या में टिकट देने का दावा कर रही है।

Author Image

Khabar East

  • Tags: